अजीज बर्नी ने ब्लागर को भेजा लीगल नोटिस

E-mail Print PDF

अजीज बोले- जांच में अधिक संपत्ति मिले तो दान में ले जाएं : सहारा मीडिया के उर्दू वेंचर के ग्रुप एडिटर अजीज बर्नी के पीछे कुछ लोग हाथ धोकर पड़े हैं. ताजा मामला ये है कि अजीज बर्नी को आय से अधिक संपत्ति में कुछ अज्ञात लोग बिना आधार, बिना प्रमाण घसीट रहे हैं. मुंबई के कोई जीवन वाधवानी हैं जो खुद को इंडिया सेकुलर फाउंडेशन का कनवीनर बताते हैं. इन्होंने अपने ब्लाग मीडिया मानीटर पर प्रकाशित एक पोस्ट में दावा किया है कि भारत विरोधी व पाक समर्थक लेख लिखने से कोर्ट केस झेल रहे अजीज बर्नी के पास अथाह संपत्ति है.

इसके कारण उनके खिलाफ एक और कोर्ट केस दायर किए जाने की तैयारी की जा रही है. जीवन वाधवानी आगे लिखते हैं कि उन्होंने जो अपने स्तर पर जांच-पड़ताल कराई है उससे पता चलता है कि अजीज बर्नी के पास करीब 500 करोड़ रुपये की चल-अचल संपत्ति हैं. जीवन का दावा है कि अजीज बर्नी के मुंबई में 9 फ्लैट हैं. दिल्ली में छह बंगले और नोएडा में 10 फ्लैट हैं. 200 करोड़ रुपये का स्टाक मार्केट में इनवेस्टमेंट हैं. 8 विदेशी आयातित लक्जरी गाड़ियां रखते हैं अजीज बर्नी. जीवन बाधवानी कोर्ट में एक केस दायर कर अजीज बर्नी की संपत्तियों की जांच कराने की तैयारी कर रहे हैं. जीवन वाधवानी के ब्लाग मीडिया मानीटर पर प्रकाशित इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आप क्लिक कर सकते हैं- Aziz Burney to face disproportionate assets case... जीवन वाधवानी ने जिस मेल आईडी के जरिए अजीज बर्नी से संबंधित अपनी ब्लाग पोस्ट के बारे में दूसरों को सूचित किया है, वह इस प्रकार है- This e-mail address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it

उधर, अजीज बर्नी इन बेसिर-पैर की चर्चाओं, आरोपों से बेहद खफा हैं. उन्होंने अपने वकील के जरिए जीवन वाधवानी को नोटिस भिजवाया है. हालांकि जीवन वाधवानी का कोई फोन नंबर और एड्रेस उपलब्ध नहीं है, इस कारण अजीज बर्नी साइबर पुलिस को जीवन वाधवानी की मेल आईडी और ब्लाग की सूचना देकर उनकी ओरीजनल पहचान की जानकारी करा रहे हैं. अजीज बर्नी कहते हैं कि मैं समझ नहीं पा रहा हूं कि जिन सज्जन ने ये आरोप लगाए हैं उनसे किस तरह संपर्क किया जाए. अजीज के मुताबिक बांबे में मेरा एक फ्लैट है, नोएडा के घर में रहता हूं. बुलंदशहर में पुश्तैनी घर है. इसके अलावा अगर कोई घर किसी को कहीं मिले तो वह दान में ले जाए.

अजीज के मुताबिक कुछ लोगों ने पहले मेरे लेखों पर बखेड़ा किया. अब संपत्ति के नाम पर मुझे परेशान किया जा रहा है. इन बकवास बातों का क्या जवाब हो सकता है कि मेरे 9-9 फ्लैट एक-एक शहर में हैं और आठ इंपोर्टेड गाड़िया हैं. पर जब ये बकवास हवा में उछाले जाते हैं तो मुझे जवाब देना ही पड़ता है. अजीज बर्नी के मुताबिक उन्होंने अपने वकील को कह दिया है कि वे इस मामले को लाइटली न लें और जो भी शख्स किसी ब्लाग के जरिए मेरी छवि के साथ खिलवाड़ कर रहा है, उसका पता लगवाया जाए और उसे कोर्ट में घसीटा जाए. साथ ही, मैं चाहता हूं कि अगर मैं दोषी हूं तो मेरे खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए लेकिन अगर मैं दोषी नहीं हूं और आरोप लगाने वाला ही गलत है तो फिर उसके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए.

अजीज बर्नी ने बताया कि उनके फेमिली में कई लोग जमींदार रहे हैं. पुश्तैन संपत्ति और धन है तो है. सारा कुछ सबके सामने है. अजीज बर्नी के मुताबिक वे चाहेंगे इस प्रकरण की सच्चाई लोगों के सामने आए और इसके लिए वे आरोप लगाने वाले से अपने नाम व पहचान को उजागर करने के लिए कह रहे हैं.


AddThis
Comments (5)Add Comment
...
written by tariq, June 02, 2010
Bahut reporter ka paisa mara hai
...
written by Ekhlaque Khan, May 23, 2010
Agar Mamla sahi hai to Mr. Burny ko kanoon ke katghare me aana hoga. Agar galat hai to aise dusron ko pareshan karne walo ko kari se kari saja milni chahiye.
...
written by Shabih Hasan Naqvi, May 21, 2010
Mr. Aziz Burney ke baarey mein jhoot jhoot likhen waloon par muqadma zaroor chalna chaiye. Mr. Burney ne ab tak jo kuch likha hai woh sach hi nikla hai. woh aaj ke bahut behtreen editor aur orater hain. Un ko sunney key liye hazaroon aadmi aa jatey hain. woh bharat ki minority ki awaz ban gaye hain. un ke qalam ko hum salam kartey hain.
...
written by Sayd ahmed nadvi, May 21, 2010
Burni Saheb ke Qalam se pareshan hain to Jhotey ilzaam kyon laga rahey hain yeh jhotey loog? burni sahab ne ghalat kaya likha hai ab tak woh bhi batayen un ke dushman. sach likhna kitna karwa hoota hai woh hum ko maloom hai. communal log isi liye pareshan hain.
...
written by satya prakash, May 20, 2010
Sachai Saamne aani hee chahiye ..

Write comment

busy