उज्जैन में वेब-ब्लाग पर राष्ट्रीय सेमिनार 20 को

E-mail Print PDF

उज्जैन में 20 जून को ब्लाग और वेब से संबंधित एक बड़ा सेमिनार आयोजित होने जा रहा है. सेमिनार का विषय है 'इंटरनेट में दुनिया'. इंटरनेट की दुनिया के हर हिस्से का भूगोल-इतिहास-विज्ञान-गणित आदि समझाने के लिए अपने-अपने फील्ड के माहिर लोग आ रहे हैं. लेफ्टिनेंट जनरल, इंजीनियर, पत्रकार, फिल्म निर्माता. कोई साइबर क्राइम की कथा सुनाएगा तो कोई ब्लागिंग के भूत-भविष्य का वाचन करेगा. कोई इंटरनेट पर भाषा और मीडिया की चर्चा करेगा तो कोई इंटरनेट पर फिल्मों व वीडियो के तकनीकी व दर्शन पक्ष को व्याख्यायित करेगा.

उज्जैन के कालिदास अकादमी में 20 जून को सुबह साढ़े दस बजे से कार्यक्रम की शुरुआत होगी. कार्यक्रम के संयोजक हैं केशव राय (कृतिका कम्यूनिकेशन, मुंबई). संचालक हैं गायत्री शर्मा और अमित राठौर. से‍मिनार के प्रमुख वक्ता इस प्रकार हैं- भीका शर्मा (असिसटंट मैनेजर, वेबदुनिया)– इंटरनेट एण्ड मीडिया, रवि रतलामी (इंजीनियर व प्रसिद्ध ब्लॉगर) – इंटरनेट और भाषाएँ, यशवंत सिंह और सुरेश चिपलूनकर (पत्रकार व ब्लॉगर) –  इंटरनेट और ब्लॉगिंग, प्रकाश हिंदुस्तानी (वरिष्ठ पत्रकार) – इंटरनेट पर सोशियल नेटवर्किंग साइट, रजत बड़जात्या (राजश्री प्रोडक्शन) – इंटरनेट पर वीडियो, नेली कूलस (सीईओ, म्यूजिक बिजप्रो) – यू ट्यूब के बारे में जानकारी, मधुर दातार (रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल) - साइबर क्राइम.

इस सेमिनार के संबंध में जो आधारपत्र तैयार किया गया है, वो इस प्रकार है- ''सूचना और जानकारी के अभाव में हम शून्य है। अपने विचारों को संप्रेषित करने के लिए, भीड़ में अपनी अलग पहचान बनाने के लिए, देश-विदेश की जानकारियों, सूचनाओं की प्राप्ति के लिए व समय के साथ-साथ कदमताल करने के लिए हमें एक ऐसे अत्याधुनिक माध्यम की आवश्यक्ता महसूस हुई, जो हमें घर बैठे ही दुनियाभर की जानकारियों से अपडेट करा दे तथा साथ ही साथ हमारे संदेशों, विचारों और प्रतिक्रियाओं को भी हमारे परिजनों, मित्रों व सत्ता की कुर्सी पर विराजमान राजनेताओं तक पहुँचा सके।

डाक, फैक्स, मोबाइल, कूरियर, टीवी आदि के रूप हमारे पास साधनों की तो भरमार थी पर समय की किल्लत और आपसी मेल-मिलाप के अभाव में इंटरनेट हमारे बीच एक ऐसा वरदान बनकर आया, जिसने हमारे जीवन को सरल व जीवन-शैली को उन्नत बनाने के साथ-साथ हमें देश-विदेश में बैठे अपनों से भी जोड़ दिया। आज ई-मेल, ब्लॉगिंग, चैटिंग, सर्फिंग आदि के मद्देनजर इंटरनेट को अविष्कार कम और वरदान अधिक कहा जाने लगा है।

इंटरनेट के फायदों ने आज जहाँ हमें साक्षर, मॉर्डन, फैशनेबल व एक जागरूक नागरिक बना दिया है, वहीं इसके दुष्परिणामों ने हमारे जीवन को मुसीबतों का जंजाल भी बना दिया है। इंटरनेट का उपयोग करते हुए जाने-अनजाने कही न कही हम और आप भी 'साइबर क्राइम' के शिकार हो जाते हैं,  जिसमें हमारी दखल के बगैर हमारी तस्वीर, हमारे लिखित विचार, हमारे बैंक अकाउंट आदि के साथ छेड़छाड़ कर हमें नुकसान पहुँचाने व हमारी साख को धूमिल करने का षड्यंत्र रचा जाता है।

आज के दौर में इंटरनेट के फायदों और नुकसान से आपको परिचित कराने के लिए हम आ रहे हैं आपके बीच, आपके शहर में। यह एक ऐसा मंच होगा जहाँ हमारे साथ-साथ आप भी इंटरनेट की दुनिया की सैर करेंगे व अपनी उन सभी जिज्ञासाओं का समाधान पाएँगे, जो कल तक इंटरनेट को लेकर आपके दिल में खलबली मचा रही थी।''


AddThis
Comments (4)Add Comment
...
written by kumar hindustani, June 16, 2010
namaskaar yashwant bhaiya.

bahut behatreen aur samayik vishay chuna hai aayojakon ne. aapki is jaankaari ke liye shukriya. choonki aap bhi wahan maoujood honge isliye request thi ki vapasi ke baad programme ki maximum details zaroor mail kar dijiyega. agar in topics ka power point presentation mil jaaye to bahut bhadiya rahega.
...
written by Dilip Batau, June 16, 2010
Ujjain Sammelan Ke Liye Bahut-Bahut Badai.
Dilip Batu
Mandsaur
Mob. 9329791115
...
written by Rajendra Wantrap, June 15, 2010
15 jun 2010
यशवंत जी नमस्ते ,
यशवंत जी मेरा नाम राजेंद्र वन्त्रप है ,मै मध्यप्रदेश के बैतूल जिले के सारणी शहर में रहता हूँ ! मै विगत १५ वर्षों से पत्रकारिता के क्षेत्र में कार्यरत हूँ ! मैंने बी.ई. की पढाई के बाद जबलपुर में ८९ में अपट्रान टी वी कंपनी में दो वर्ष कार्य किया इसके बाद एक मेजर एक्सीडेंट में मेरा पैर ख़राब हो गया और एक बड़े आपरेशन से होकर मुझे गुजरना पड़ा ! इस के बाद मै वापस बैतूल आ गया ! और यहाँ इलेक्ट्रानिक्स एकुप्मेंट्स ट्रेनिग सेंटर डाल दिया ! जिसमे मुझे संतुष्टि भी मिली और रोजगार भी, मेरे पास से लगभग २७०० बच्चों ने ट्रेनिग ली ! लेकिन ९४ में मैंने देखा की इलेक्ट्रानिक्स दिनी दिन अपग्रेड होता जा रहा है और नई नई टेक्नोलाजी दिन ब दिन आती जा रही है ! जिसमे टिके रहने के लिए हमेशा अपडेट रहना होगा यानि सीखते ही रहना होगा ! और आने वाली टेक्नोलाजी युस एंड थ्रो हो जाएगी बस यही भविष्य की कल्पना कर मैंने खुद भी इस फिल्ड को छोड़ा साथ ही मेरे स्टुडेंट्स को भी रिपेरिंग काम बंद कर सेलिंग व् कम्प्यूटर की ओर भविष्य आजमाने की सलाह दी ! और एसा ही हुआ हम आज समय से भी आगे निकल गए है !
और मुझे ख़ुशी है की मैंने ९५ में पत्रकारिता का जो दामन थामा वह मेरा निर्णय बिलकुल सही था !
मैंने भोपाल से निकलने वाले कई साप्ताहिक व् दैनिक छोटे अखबारों से शुरुआत की फिर जबलपुर एक्सप्रेस में सारणी ब्यूरों के बतौर २ वर्ष तक कम किया फिर मैंने भारत के समाचारों के पंजीयक से अपने पंजीयन करा कर खुद का साप्ताहिक अख़बार भोपाल से प्रकाशित किया ! लेकिन मेरी मंजिल कुछ और ही थी ! इस के बाद मैने सी डी पर समाचारों को निकाल कर स्थानीय पत्रकारिता में हलचल बढ़ा दी! लेकिन वहाँ भी काफी चुनौतियां सामने आई !
और फिर केबल पर पंजीयन लेकर मैंने लोकल चैनल एस सी एन न्यूज़ की शुरुआत की जो २००५ से लगातार सारणी क्षेत्र में लगभग १५ किलोमीटर सर्किल में चल रहा है और इसके अलावा अब मैंने एस सी एन को एस सी एन मिडिया प्राइवेट लिमिटेड बना कर अपनी वेब साइड शुरू की है !जो www.scnnewsindia.com 3gp मोबाईल हेतु एवं www.scnnewsindia.com/site कम्प्यूटर हेतु पोर्टल तैयार किया है !जिसे १५ अगस्त २०१० से लांच करूँगा !इसके साथ ही लाइव स्ट्रीमिंग के जरिये इन्टरनेट पर अपना चैनल लाने की कवायत में लगा हुआ हूँ !
पहले मै आपने आप को बिलकुल अकेला महसूस करता था लेकिन जब से आपसे अप्रत्यक्ष ही संही जुड़ा हूँ मुझमे फिर से वही नई उर्जा का संचार हुआ है ! दरअसल मै पिछड़े क्षेत्र यानि आदिवासी बेल्ट में जागरूकता लाने के मिशन में कार्य कर रहा हूँ ! आप मेरी साइड देखेंगे तो आप समझ जायेंगे ! मेरा खुद का स्टूडियो सेट-अप है !
मुझे यह जानकर प्रसन्नता हुई की वेब ब्लाँगिंग पर राष्ट्रीय स्तर पर सम्मेलन का आयोजन उजैन में २० जून को होने जा रहा है !
मै भी इस सम्मेलन में शामिल होना चाहता हूँ , यदि मुझे आप थोड़ी जानकारी दे दे तो मै भी अवश्य इस कार्यक्रम में शामिल हो सकूँगा ! आशा है की आप मेरे इस पत्र को व्यक्तिगत ही रखेंगे !

राजेंद्र वन्त्रप
एस सी एन न्यूज
बैतूल म.प्र.
रजि. कार्यालय : नगर पालिका रोड सारणी ,जिला बैतूल म.प्र.
फोन ; ०७१४६-२५६३०१
www.scnnewsindia.com/site
scnnewsindia@gmail.com
...
written by ravishankar vedoriya, June 15, 2010
isprakar ke seminaro se internet se jude logo ko bahut se batou ka pata lagega nai jankariyo ka pura bhandaran yaha hame mil sakega

Write comment

busy