सहारा उर्दू ई-पेपर और मैगजीन लांच

E-mail Print PDF

सहारा इंडिया मॉस कम्युनिकेशन ने अपने उर्दू संस्करणों, उर्दू दैनिक ‘रोजनामा’, साप्ताहिक पत्रिका ‘आलमी सहारा’ व मासिक पत्रिका ‘बज्म-ए-सहारा’ के ई-संस्करणों का आगाज कर दिया है। अब सहारा इंडिया मॉस कम्युनिकेशन का उर्दू संस्करण इंटरनेट पर भी उपलब्ध होंगे। उर्दू संस्करणों के ई-वर्जन का शुभांरभ सहारा इंडिया न्यूज नेटवर्क के डायरेक्टर उपेन्द्र राय ने किया।

इस मौके पर उन्होंने कहा कि उर्दू संस्करणों के ई-पेपर के लॉच होने के साथ ही सहारा इंडिया मीडिया के ई-संस्करणों का गुलदस्ता पूरा हो गया है। श्री राय ने कहा कि आज समय की मांग है कि हम तकनीकी रूप से काफी मजबूत रहें। तकनीकी रूप से हम जितना अधिक मजबूत रहेंगे, उतना ही बाजार में हमारी पहुंच और प्रगति अच्छी होगी। साभार : सहारा


AddThis
Comments (6)Add Comment
...
written by abhishek shrivastava narsinghpur, February 25, 2011
subhkamaaanye
...
written by narsinghpur, February 14, 2011
smilies/grin.gif ha ha ha ha ha ha isko kahte hai khisiyani billi khamba lonche..ub hum yuvao ko moka mila aap sabhi bhddhe ho gay ho isliye sanak gay ho... ha ha ha ha ha ha
...
written by rahul, October 31, 2010
urdu mein badlao too ho rhaa hai per salry nahi de rhe hai..... danish bhai ki 6 mahine ki salry nahi diyaa kyaa baat karenge sahara wale....सहारा में बहुत कुछ बदल रहा है,बस नहीं बदल रहा है तो सेलरी स्ट्रकचर
...
written by mustkeem khan, October 26, 2010
bharat mai kareeb 21 bhasa hai ager prtayk bhasa mai patrrika chhape to ye patrkarita ka na yug hoga
...
written by afsar.alam, October 24, 2010
Sahar channel ,,,main aaj bhi kuch aise logon ki jarurat hai jo wake har tarah se all rounder ho,,,,,,,,,,All is well ,,,
...
written by rajkumar jain, October 09, 2010
अच्‍छा लगा कि उर्दू नेटवर्क शुरू किया गया है। सभी वर्गों के लिए समाचारों को परोसा जाना उचित है।

Write comment

busy