एक साथ 25 पोर्टल लांच करेंगे उमेश कुमार

E-mail Print PDF

उमेश कुमार, चेयरमैन, एनएनआईदेश की प्रतिष्ठित न्यूज एजेंसी एनएनआई (न्यूज नेटवर्क आफ इंडिया) एक साथ 25 हिंदी पोर्टल लांच करने जा रही है. यह जानकारी एनएनआई के चेयरमैन उमेश कुमार ने दी. पत्रकारिता से मीडिया उद्यमिता का सफर तय करने वाले उमेश कुमार ने बताया कि 25 पोर्टलों में हर प्रदेश के लिए एक विशेष न्यूज पोर्टल होगा. इसके अलावा एविएशन इंडस्ट्री और मेडिकल इंडस्ट्री पर पोर्टल लांच किया जाएगा. ये सभी पोर्टल या तो बन चुके हैं या बनने की अंतिम अवस्था में हैं.

एनएनआई के बारे में जानकारी देते हुए उमेश कुमार ने बताया कि इस एजेंसी की प्रामाणिकता और विश्वसनीयता का इससे बड़ा सुबूत क्या हो सकता है कि इसे सिर्फ डेढ़ साल में 6 प्रतिष्ठित अंतरराष्ट्रीय आयोजनों के कवरेज के वास्ते इंटरनेशनल एक्रीडेशन प्राप्त हुआ. अगस्त 2009 में थाईलैंड में हुए एसियान समिट के लिए एनएनआई को मीडिया एक्रीडेशन मिला था. एनएनआई ने इस इवेंट का सफलता पूर्वक कवरेज किया था.

अक्टूबर 2010 में त्रिनिदाद टोबैगो में हुए अंडर-17 वुमन वर्ल्ड कप के लिए भी एनएनआई को कवरेज करने का एक्रीडेशन फीफा ने दिया. 8 दिसम्बर 2010 से यूएई के आबूधाबी में होने वाले फीफा वर्ल्ड कप (टोयोटा) के कवरेज  के लिए एनएनआई को एक्रीडेशन मिल चुका है और यह एक्रीडेशन पाने वाली एनएनआई देश की पहली इंडिपेंडेंट एजेंसी है. दिसम्बर में ही डेनमार्क में होने वाले यूरोपियन हैंडबाल कप के कवरेज के लिए भी एनएनआई ने क्वालिफाई कर लिया है. जनवरी 2011 में यूरोप के ज्यूरिख में होने वाले  FIFA Ballon d’Or कप के कवरेज  के लिए भी एनएनआई ने क्वालीफाई कर लिया है.

उमेश कुमार के मुताबिक एनएनआई की उत्तराखंड और वेस्ट यूपी की राजनीतिक व अन्य क्षेत्रों में मजबूत पकड़ है. एनएनआई न्यूज़ एजेंसी अब तक कई बड़ी स्टोरी ब्रेक कर चुकी है. जैसे- आरुषि कांड में तीनों नौकरों के नारको का खुलासा, शिमला में हुई भाजपा चिंतन बैठक के एजेंडे का खुलासा आदि. यूपी की बड़ी खबरें समय-समय पर एनएनआई द्वारा ब्रेक की गई जिसे अन्य चैनलों ने फालो किया. एनएनआई का देश में सबसे पहला और  अदभुत प्रयास था मोबाइल पर रोमन में ब्रेकिंग एलर्ट्स उपलब्ध कराना. एक समय में इस सर्विस ने यूपी और उत्तराखंड में कोहराम मचा दिया था.

उमेश कुमार ने बताया कि नए लांच होने वाले पोर्टलों के लिए उन्हें डेस्क व फील्ड के पत्रकार चाहिए. अगर कोई इससे जुड़ना चाहता हो, खासकर दिल्ली-एनसीआर में तो वह This e-mail address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it पर मेल कर सकता है. उमेश का कहना है कि वे जल्द ही एनएनआई के काम को भी बढ़ाने जा रहे हैं. इसके लिए दिल्ली में आफिस लिया जा रहा है. उत्तर प्रदेश में भी एनएनआई के काम को पुनर्गठित किया जा रहा है.


AddThis