मीडिया छोड़ फिल्‍मी दुनिया में रम गए कुमुद रंजन

E-mail Print PDF

कुमुद रंजन: पर्वत काटकर रास्‍ता बनाने वाले दशरथ माझी पर बनाई डाक्‍युमेंट्री : बिहार के मोतिहारी के रहने वाले कुमुद रंजन ने पर्वत पुरुष दशरथ माझी पर एक डाक्युमेंटरी फ़िल्म बनाई है। दशरथ माझी ने बाईस सालों तक अपनी छेनी और हथौड़ी की मदद से एक पहाड़ी को काट कर रास्ता बनाया। गया के गेहलौर घाटी के रहने वाले माझी के जीवन और उनके काम पर बनी फ़िल्म “द मैन व्हू मूव्ड द माउंटेन” को फ़िल्म्स डिविजन ने प्रोड्यूस किया है। फ़िल्म करीब तीन सालों में बनी।

फ़िल्म में दशरथ माझी और उनके जानने वालों के माध्यम से उनके जीवन के अनजाने पहलुओं को भी दिखाया गया है। फ़िल्म में उनका आत्मसंकल्प, स्वाभिमान और उनकी निश्छल आध्यात्मिक ऊंचाई को कैमरे में कैद किया गया है। हमेशा समाज की भलाई की  बात करने वाले माझी के परिवार वालों की दशा भी दिखाई गई है। फ़िल्म के निर्देशक कुमुद ने हाल ही में स्टार न्यूज़ की अपनी नौकरी छोड़ी है। कुमुद स्टार न्यूज़ के पटना ब्यूरो में पिछले छह सालों से बतौर कैमरामैन कार्यरत थे।

कुमुद पटना थियेटर में भी काफ़ी सक्रिय रंगकर्मी रहे हैं। इस फ़िल्म के अलावा उन्होंने लोक गायन “आल्हा” पर भी एक फ़िल्म बनाई है। इसके अलावा 2010 के बिहार चुनाव पर भी एक डॉक्यू ड्रामा बनाया जो काफ़ी पसंद किया गया। कुमुद ने जापान की नेशनल नेटवर्क “एनएचके” की एक फ़िल्म के लिये कैमरा भी किया है। जन संचार से स्नातक कुमुद नौकरी से मुक्त होकर अपना पूरा समय डॉक्यूमेंटरी को दे रहे हैं और बिहार और बाहर के विषयों पर फ़िल्म बना रहे हैं।


AddThis