भड़ास4मीडिया के नाम रोजाना डेढ़ लाख हिट्स

E-mail Print PDF

भड़ास4मीडिया कई नए रिकार्ड कायम करता हुआ नए साल में प्रवेश करेगा। कल देर रात से लेकर आज दोपहर तक यह पोर्टल ठप रहा। तकनीकी दिक्कत के पैदा होते ही एक नया रिकार्ड भी कायम हो गया। पोर्टल ठप होने के दौरान भड़ास4मीडिया पर ''बैंडविथ लिमिट एक्सीडेड'' नामक आटोमेटेड संदेश दिखता रहा। बैंडविथ लिमिट एक्सीड होने का सीधा-सा मतलब होता है किसी पोर्टल का उसके संचालक की उम्मीद से ज्यादा लोकप्रिय होना या ज्यादा स्पेश खाना। भड़ास4मीडिया के नाम अभी तक ''50 जीबी बैंडविथ प्रति माह'' का पैकेज था। इस पैकेज के तहत मिला 50 जीबी स्पेश इस माह 29 दिसंबर को ही चुक गया।  मतलब, यह पोर्टल 50 जीबी बैंडविथ का स्पेश महीना पूरा होने के पहले ही खा गया। ऐसा इस पोर्टल को उम्मीद से ज्यादा लोगों द्वारा अपने-अपने कंप्यूटरों पर खोलने-पढ़ने के चलते हुआ।

ऐसा होना बताता है कि भड़ास4मीडिया की लोकप्रियता दिन दूनी रात चौगुनी के हिसाब से बढ़ रही है। दूसरी सबसे बड़ी सूचना है भड़ास4मीडिया को हर रोज औसतन डेढ़ लाख से ज्यादा हिट्स मिलना। पोर्टल के सी-पैनल में एकत्रित डाटा के मुताबिक यह पोर्टल दिसंबर महीने में औसतन डेढ़ लाख हिट्स रोजाना हासिल कर रहा है।

डाटा के मुताबिक इस पोर्टल पर आने वाले 40 फीसदी यूजर 15 मिनट से ज्यादा वक्त यहां गुजारते हैं। एक अन्य आंकड़े के मुताबिक 81 फीसदी से ज्यादा यूजर सीधे www.Bhadas4Media.com टाइप कर इस पोर्टल पर आते हैं या फिर यह पोर्टल www.Bhadas4Media.com उनके फेवरिट में सेव होता है। सर्च इंजनों और अन्य तरीकों से भड़ास4मीडिया तक पहुंचने वालों की संख्या 19 फीसदी है। इसका मतलब यह होता है भड़ास4मीडिया के 81 फीसदी यूजर ऐसे हैं जो इस पोर्टल के कंटेंट के चलते इस तक डायरेक्ट आते हैं। 19 फीसदी लोग ऐसे हैं जो अन्य ब्लागों, पोर्टलों पर भडास4मीडिया के लिंक के चलते या फिर गूगल, याहू जैसे सर्च इंजनों के जरिए इस पोर्टल तक पहुंचते हैं।  

वरिष्ठ वेब विश्लेषकों का कहना है कि 'टॉप-500 भारतीय वेबसाइटों' और 'टाप एक लाख वैश्विक वेबसाइटों' के क्लब में भड़ास4मीडिया के घुसने में अब ज्यादा देर नहीं है। इन जानकारों का यह भी कहना है कि हिंदी नेट यूजर की लगातार बढ़ती संख्या के चलते आने वाले दिनों में भड़ास4मीडिया के नाम कई और नए कीर्तिमान दर्ज होने के आसार हैं।

भड़ास4मीडिया टीम इस उपलब्धि पर अपने सभी पाठकों, चाहने वालों, प्रशंसकों, शुभचिंतकों, सहयोगियों, विज्ञापनदाताओं को विनम्रतापूर्वक थैंक्यू कहती है और उम्मीद करती है कि आप सभी लोग इसी तरह प्यार बनाए रहेंगे। हिंदी मीडिया की खबरों का यह नंबर वन पोर्टल भारतीय मीडिया जगत में अंग्रेजी की प्रभुसत्ता और सर्वोच्चता के खिलाफ न सिर्फ एक बुलंद आवाज है बल्कि मीडियावी कोढ़-खाजों के खिलाफ एक मजबूत आवाज भी है। आम मीडियाकर्मियों की दिक्कतों, समस्याओं, अच्छाइयों, सुख-दुख को सारी दुनिया के सामने लाने के साथ-साथ मीडिया हाउसों की अच्छाइयों को उजागर कर उन्हें मजबूती प्रदान करना भी इस पोर्टल का मकसद है। पत्रकारिता के बुनियादी मानदंडों के आधार पर खबरों को प्रकाशित करने वाला यह पोर्टल नए साल में नए तेवर और कई अलग रूपों में भी प्रकट होगा।


AddThis