20 मार्च से बीबीसी रेडियो हिंदी सर्विस बंद

E-mail Print PDF

बड़ी खबर है. दुखद खबर है. और सच्ची खबर है. ब्रिटिश ब्राडकास्टिंग कारपोरेशन की तरफ से ऐलान कर दिया गया है कि रेडियो की हिंदी सर्विस को बंद किया जाएगा, 20 मार्च से. उर्दू सर्विस जारी रहेगी क्योंकि उर्दू का श्रोता वर्ग ग्लोबल है, पर हिंदी का श्रोतावर्ग दिनोंदिन सिकुड़ता जा रहा है और बीबीसी रेडियो की हिंदी सर्विस को सुनने वाले नाममात्र के ही लोग बचे हैं.

हालांकि कहने वाले ये भी कह रहे हैं कि ब्रिटेन में बजट कटौती का जो दौर चला है, उसमें बीबीसी के भी बजट में कटौती की गई है और बीबीसी ने रेडियो सर्विस को वेब व मोबाइल बेस्ड करने की तैयारी कर ली है क्योंकि बदले समय में रेडियो शार्टवेब सर्विस बहुत कम लोग सुनते हैं. आज लंदन में बीबीसी की तरफ से बीबीसी रेडियो की हिंदी सर्विस के बंद करने का ऐलान किया गया है. इसके वेब व मोबाइल वर्जन को जारी रखा जाएगा और इसी को भविष्य के लिहाज से डेवलप किया जाएगा.

माना जा रहा है कि इस फैसले से बीबीसी रेडियो की हिंदी सर्विस से जुड़े सैकड़ों जर्नलिस्ट बेरोजगार हो जाएंगे. ज्यादातर जर्नलिस्ट बीबीसी रेडियो से कांट्रैक्ट बेसिस पर जुड़े हुए हैं. बीबीसी रेडियो की हिंदी सर्विस के बंद होने से करोड़ों दिलों को झटका लगेगा. कई पीढियां इस रेडियो सर्विस को सुनकर बड़ी हुई हैं और कइयों की जिंदगी को इस रेडियो सर्विस ने संवारा है. बीबीसी रेडियो से जुड़े ढेर सारे लोग पत्रकारिता के आइकन बने. लखनऊ में रामदत्त त्रिपाठी हों या पटना में मणिकांत ठाकुर, दिल्ली में बस जाने वाले मार्क टुली हों या हाल में ही बीबीसी से जुदा होने वाले संजीव श्रीवास्तव, ऐसे सैकड़ों लोगों को बीबीसी ने जबरदस्त पहचान दी.

साथ ही बीबीसी रेडियो की हिंदी सर्विस ने समाचारों के शीघ्र अति शीघ्र जनता तक पहुंचाने के मामले में भी कई नए कीर्तिमान बनाने में सफलता हासिल की है. बहुत सारे लोगों के लिए बीबीसी रेडियो की हिंदी सर्विस के बंद होने की खबर एक झटके की तरह होगी लेकिन जो सच है, उसे कैसे छुपाया जा सकता है और कब तक छुपाया जा सकता है. अलविदा बीबीसी रेडियो की हिंदी सर्विस. अब जितने रोज बचे हैं, 20 मार्च होने में, उतने रोज सभी को बीबीसी रेडियो की हिंदी सर्विस सुनने का प्रयास करना चाहिए ताकि अपने एक समय के प्यार को जो अभी वर्तमान है, अतीत बनने से पहले फिर जिया जा सके. बीबीसी रेडियो की हिंदी सर्विस को लेकर अगर आपके दिल दिमाग में कोई तस्वीर, खयाल, संस्मरण आदि हो तो जरूर लिखकर भेजें, This e-mail address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it पर.


AddThis